Love Shayari

मुझे नींद की इजाज़त भी उनकी यादों से लेनी पड़ती है,
जो खुद आराम से सोये हैं मुझे करबटों में छोड़ कर

Mohabbat Shayari

तेरा दिल मेरे खातिर दयार जैसा है
सच कहता हूँ तू मेरे बिछड़े प्यार जैसा है
Mohabbat Shayari
Visit Us On FacebookVisit Us On Twitter